न्यू मीडिया में हिन्दी भाषा, साहित्य एवं शोध को समर्पित अव्यावसायिक अकादमिक अभिक्रम

डॉ. शैलेश शुक्ला

सुप्रसिद्ध कवि, न्यू मीडिया विशेषज्ञ एवं प्रधान संपादक, सृजन ऑस्ट्रेलिया

सृजन ऑस्ट्रेलिया | SRIJAN AUSTRALIA

6 मैपलटन वे, टारनेट, विक्टोरिया, ऑस्ट्रेलिया से प्रकाशित, विशेषज्ञों द्वारा समीक्षित, बहुविषयक अंतर्राष्ट्रीय ई-पत्रिका

A Multidisciplinary Peer Reviewed International E-Journal Published from 6 Mapleton Way, Tarneit, Victoria, Australia

डॉ. शैलेश शुक्ला

सुप्रसिद्ध कवि, न्यू मीडिया विशेषज्ञ एवं
प्रधान संपादक, सृजन ऑस्ट्रेलिया

श्रीमती पूनम चतुर्वेदी शुक्ला

सुप्रसिद्ध चित्रकार, समाजसेवी एवं
मुख्य संपादक, सृजन ऑस्ट्रेलिया

placeholder.png
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
कहानी
nandlalmanitripathi

काशी जाएं की काबा

  पंडित धर्मराज के तीन बेटे हिमाशु ,देवांशु ,प्रियांशु थे तीनो भाईयों में आपसी प्यार और तालमेल था

Read More »
कहानी
nandlalmanitripathi

बंटवारा

पंडित महिमा दत्त और लाला गजपति अपने खुराफाती दिमाग से गांव में अपना सिक्का चलाने की कोशिशों में

Read More »
कहानी
nandlalmanitripathi

मौन

  जुबान ,जिह्वा और आवाज़ जिसके संयम संतुलन खोने से मानव स्वयं खतरे को आमंत्रित करता है और

Read More »
खंडकाव्य
nandlalmanitripathi

मुस्कुराता सूरज जीवन दर्शन

सूर्य मुस्कुराता छितिज परभाव चेतना मकसद मंजिलका पैगाम लिये।।नया सबेरा उम्मीदों विश्वास की नई किरणउदय उदित उड़ान स्वर्णिम

Read More »
नई कविता
nandlalmanitripathi

धर्म राजनीति शासन

धर्म आस्था की धतातलअवनि आकाश धर्म मर्यादा संस्कृति संस्कार।।धर्म शौम्य विनम्र युग समाजव्यवहार।।धर्म जीवन मूल्यों आचरण कासत्य सत्यार्थ।।धर्म

Read More »
महाकाव्य
nandlalmanitripathi

नौजवान

1-जिंदगी एक संग्राम है आशा का परचम लहरा जिंदगी के कदमों केनिशाँ है।।जीवन एक संग्राम है दुख ,दर्द

Read More »
खंडकाव्य
nandlalmanitripathi

गांव

1-गाँव की माटी प्रकृति—सुबह कोयल की मधुर तानमुर्गे की बान सुर्ख सूरज कीलाली हल बैल किसान गाँवकी माटी

Read More »
काव्य धारा
nandlalmanitripathi

फूल के जज्बात

गांव शहर नगर की गलियों कीकली सुबह सुर्ख सूरज की लाली केसाथ खिली ।।चमन में बहार ही बहार

Read More »