blackhouse, cabin, storm

मीनाक्षी डबास की नई कविता: रिमझिम-रिमिझम

रिमझिम रिमझिम  बरसे फुहार  मन नाचे मेरा  करे पुकार l रिमझिम रिमझिम  बरसो पानी  भू पर लिख दो  फिर नई कहानी  रिमझिम रिमझिम  कदम बढ़ाए डालों को तुम  चलो भिगोएं …

मीनाक्षी डबास की नई कविता: रिमझिम-रिमिझम Read More »