न्यू मीडिया में हिन्दी भाषा, साहित्य एवं शोध को समर्पित अव्यावसायिक अकादमिक अभिक्रम

डॉ. शैलेश शुक्ला

सुप्रसिद्ध कवि, न्यू मीडिया विशेषज्ञ एवं प्रधान संपादक, सृजन ऑस्ट्रेलिया

सृजन ऑस्ट्रेलिया | SRIJAN AUSTRALIA

6 मैपलटन वे, टारनेट, विक्टोरिया, ऑस्ट्रेलिया से प्रकाशित, विशेषज्ञों द्वारा समीक्षित, बहुविषयक अंतर्राष्ट्रीय ई-पत्रिका

A Multidisciplinary Peer Reviewed International E-Journal Published from 6 Mapleton Way, Tarneit, Victoria, Australia

डॉ. शैलेश शुक्ला

सुप्रसिद्ध कवि, न्यू मीडिया विशेषज्ञ एवं
प्रधान संपादक, सृजन ऑस्ट्रेलिया

श्रीमती पूनम चतुर्वेदी शुक्ला

सुप्रसिद्ध चित्रकार, समाजसेवी एवं
मुख्य संपादक, सृजन ऑस्ट्रेलिया

Category: नई कविता

Categories
नई कविता
shubhaagya

रश्मिरथी

जा रे जा,जिया घबराए ऐ लंबी काली यामिनी आ भी जा,देर भई रश्मिरथी मृदुल उषा कामिनी काली घटा

Read More »
नई कविता
nandlalmanitripathi

किस रंग खेलू होली

दिल दुनियां के रंग अनेकोंकिस रंग खेलूं होलीमईया ओढे चुनरी रंग लालकेशरिया बैराग किस रंग खेलूं होली।।रंग हरा

Read More »
नई कविता
nandlalmanitripathi

गंगा

  जय गंगे माता ,निश दिन जो तुझेधता सुख संपत्ति पाता ।। मईया जय गंगे माता ।।ब्रह्मा के

Read More »
नई कविता
nandlalmanitripathi

विश्व पर्यावरण

—– – विश्व पर्यावरण — पर्यावरण प्रदूषण प्राणी प्राण कि आफत ब्रह्ममाण्ड के दुश्मन।नदियां ,झरने ,तालाब ,ताल तलइया

Read More »
नई कविता
nandlalmanitripathi

वक्त की कद्र

वक्त को जान इंसानमत जाया होने दे कर वक्त की कद्र बन कद्रदानवक्त के इम्तेहान सेना हो परेशान।।वक्त

Read More »
नई कविता
nandlalmanitripathi

वक्त की क्या बात

वक्त की क्या बातअच्छों अच्छो कीदिखा देता औकातपल भर में रजा रंकफकीर वक्त की तस्वीर।।वक्त किसी का गुलाम

Read More »